गेंदे के फूल से बनी चाय रोज पिएं, सेहत को मिलेंगे ये 5 फायदे

गेंदा के फूलों से बनी चाय का सेवन करने से शरीर को कई बीमारियों में फायदा, जानिए चाय बनाने की विधि और इसके इस्तेमाल की विधि।

गेंदा फूल (Marigold Flower) भारत में एक बहुत ही आम फूल है जिसे हर जगह देखा जा सकता है। वैसे, इसका इस्तेमाल पूजा से लेकर सजावट आदि के कामों में किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कई औषधीय गुणों वाले गेंदा के फूल का इस्तेमाल स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। गेंदा के फूलों से बनी चाय (Marigold Flower Tea) का सेवन कई बीमारियों के लिए रामबाण माना जाता है। अगर आप इस चाय का नियमित सेवन करते हैं तो पीरियड्स से लेकर डायबिटीज और कब्ज आदि समस्याओं में यह काफी फायदेमंद है। चूंकि मैरीगोल्ड फ्लावर में एंटी-इंफ्लेमेशन, एंटी सेप्टिक और एंटी ऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो शरीर की कई बीमारियों और समस्याओं में फायदेमंद होते हैं। आइए जानते हैं गेंदा के फूलों से बनी चाय के नियमित सेवन से होने वाले फायदों (Marigold Flower Tea Benefits) के बारे में और इसकी चाय कैसे बनाई जाए।

Table of Contents

गेंदे के फूल से बनी चाय के फायदे (Marigold Flower Tea Health Benefits)

गेंदा के फूलों से बनी चाय का नियमित सेवन करने से शरीर को कई फायदे मिलते हैं। गेंदा के फूलों में एंटीफंगल और रोगाणुरोधी गुण होते हैं जो संक्रमण आदि को फैलने से रोकते हैं और घावों या चोटों में भी फायदेमंद माने जाते हैं। इसके अलावा गेंदा में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण कैंसर जैसी घातक बीमारियों से लड़ने के लिए शरीर को मजबूत बनाते हैं और शरीर को दिल से जुड़ी बीमारियों से भी बचाते हैं। भारत में प्राचीन काल से गेंदा फूल चाय का प्रयोग किया जाता रहा है। यह कई समस्याओं के लिए एक पारंपरिक दवा के रूप में इस्तेमाल किया गया था। जो व्यक्ति नियमित रूप से गेंदा के फूलों से बनी चाय का सेवन करता है, उसे ये 5 बड़े फायदे मिलते हैं।

READ  स्वस्थ किडनी (गुर्दों) के लिए जरूर खाने चाहिए ये 8 फल और सब्जियां

1. गेंदा के फूलों से बनी चाय का सेवन करने से महिलाओं को पीरियड्स के दौरान होने वाली परेशानियों से छुटकारा मिलता है। मैरीगोल्ड फ्लावर में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-भड़काऊ गुण होते हैं, जो पीरियड्स के दौरान होने वाली समस्याओं में फायदेमंद होते हैं। इसके अलावा गेंदा के फूलों से बनी चाय का नियमित सेवन पीरियड्स के दौरान कब्ज और पेट से जुड़ी समस्याओं में फायदेमंद होता है। गैस्ट्रिटिस, एसिड रिफ्लक्स और अल्सर आदि के इलाज में भी इसका इस्तेमाल फायदेमंद माना जाता है।

2. गेंदा के फूल के बारे में किए गए सभी शोध के अनुसार इसके सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में लाभ मिलता है। गेंदा के फूल में मौजूद तत्व शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होते हैं। अगर आप भी कोरोना पीरियड के दौरान अपनी इम्युनिटी बढ़ाना चाहते हैं तो मैरीगोल्ड चाय का सेवन जरूर करें। इसके सेवन से शरीर बीमारियों से लड़ने के लिए मजबूत होगा और शरीर को कई बीमारियों से भी बचाया जा सकेगा।

READ  सुबह खाली पेट अजवाइन खाने और इसका पानी पीने के 7 फायदे

3. गेंदा चाय का सेवन त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। गेंदा में मौजूद तत्व इसे त्वचा के लिए फायदेमंद फूल बनाते हैं। रोजाना इसके फूलों की पंखुड़ियों से बनी चाय का सेवन करना त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं में फायदेमंद होता है। त्वचा को ठीक करने के लिए गेंदा चाय का सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसके नियमित सेवन से आपको मुंहासे, दानों और पिंपल्स से छुटकारा मिलेगा। त्वचा पर किसी भी तरह के घाव या चोट लगने की स्थिति में गेंदा चाय का सेवन उसे जल्दी ठीक करने में मदद करता है।

4. गेंदा के फूल एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं। इसलिए इसकी चाय के नियमित सेवन से तनाव जैसी मानसिक समस्याओं में भी लाभ मिलता है। गेंदा में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण इसका सेवन कैंसर, ट्यूमर, मोटापा और डायबिटीज में भी फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन ए भी पाया जाता है जो सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

READ  नाभि में जलन और दर्द होने पर अपनाएं ये 5 आसान घरेलू नुस्खे

5. गेंदा के फूल की पंखुड़ियों से बनी चाय का सेवन दांत दर्द में भी काफी फायदेमंद माना जाता है। अगर आपको दांत दर्द की समस्या है तो गेंदा के फूलों से बनी चाय को ठंडा कर के इसे ठंडा करने से दर्द से राहत मिलेगी।

गेंदे की चाय बनाने का तरीका (How to Make Marigold Flower Tea?)

गेंदा चाय को स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद बनाने के लिए, नीचे दिए गए तरीके का पालन करें।

आवश्यक सामग्री 

  • 4-5 गेंदे के फूल 
  • 2 कप पानी 
  • शहद (स्वाद के लिए)

बनाने का तरीका 

  • सबसे पहले 4-5 गेंदे के फूल लें और उन्हें अच्छी तरह साफ करें।
  • इसके बाद एक पैन में पानी उबालकर उसमें गेंदा के फूल डाल दें।
  • पानी को अच्छी तरह उबालने के बाद इसे एक कप में छान लें और उसमें शहद डालें।
  • और अब आपकी चाय तैयार है।

आप इस चाय का दिन में अधिकतम दो बार सेवन कर सकते हैं। अगर आपको किसी भी तरह की बीमारी या समस्या है तो इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *